Best Hindi sex stories

Sab se achi Indian Hindi sex kahaniya!

अजनबी भाभी को चोद दिया -2


Click to this video!

bhabhi sex stories फिर उसने कहा कि वो तो सेक्स के लिए तड़पती ही रहती है, क्योंकि उसका पति उसके साथ महीने में सिर्फ़ एक या दो बार ही सेक्स करता है और वो अपने शरीर की आग में तड़पती ही रह जाती है। फिर मैंने कहा कि में हूँ ना और फिर उस रात से हम रोज रात को मैसेज पर चैट करते हुए सेक्स करते थे। अब में रोजाना उसके अंडरगारमेंट्स के कलर पूछता था और फिर मैसेज करता कि में तुम्हारी ब्रा उतार रहा हूँ, फिर तुम्हारे निपल्स को अपने मुँह में डाल रहा हूँ। फिर पेंटी उतार रहा हूँ और वो फिंगरिंग करके अपने आपको संतुस्ट करती थी और कभी-कभी तो वो इतनी गर्म हो जाती थी कि उससे कंट्रोल नहीं होता था और वो फोन को वाइब्रेशन पर करके अपनी पेंटी के अंदर रख लेती थी और मुझसे कहती थी कि बार-बार कॉल करो, ताकि फोन वाइब्रेट करे और उसकी चूत को शांति मिले। फिर कुछ दिन तक रोज रात को ऐसा ही चलता रहा और अब मुझे तो अपने हाथ से ही मुठ मारकर सोना पड़ता था।

फिर एक दिन रात को चैट पर उसने मुझसे कहा कि बधाई हो। तब मैंने कहा कि किस लिए? तो उसने कहा कि कल उसके पति 7 दिन के लिए आउट ऑफ इंडिया जा रहे है और उसकी सास भी किसी शादी को अटेंड करने दिल्ली जाएगी और वो भी परसों आएगी, तो हमारे पास इन्जॉय करने के लिए कल का दिन है और कल मुझे घर पर बुलाया। मैंने कहा कि रात को तो में रुक नहीं सकता, क्योंकि में घर पर क्या कहूँगा? तो उसने कहा कि कोई बात नहीं, तुम कल पूरा दिन मेरे साथ मेरी बाहों में रहना और शाम को वापस चले जाना। अब अगले दिन मेरे पापा कार लेकर कहीं गये थे। मैंने कहा कि आज तो मेरे पास कार नहीं है। वो मुझे अपनी होंडा सिटी में ही साराभा नगर मार्केट से लेने आई, जब सुबह के 11 बजे का टाईम था। फिर जब हम उसके घर पहुँचे तो वो भी साराभा नगर के पास ही रहती थी, गुरदेव नगर में, उसकी कोठी बहुत बड़ी थी।

उस दिन तो वो कहर ढा रही थी, उसने ब्लू रंग की केफ्री पहनी थी और साथ में ग्रीन कलर का स्ट्रेप्स वाला सेक्सी सा टॉप पहना हुआ था और उसकी पिस्ता कलर की सिल्क स्ट्रेप वाली ब्रा के स्ट्रेप्स भी नजर आ रहे थे, मतलब शी वाज़ रियली लुकिंग माइंड ब्लोइंग। उसकी कोठी तो बहुत बड़ी थी, उसकी कोठी में हर जगह ए.सी लगे हुए थे, उसके ड्रॉईग रूम में भी 2 ए.सी लगे हुए थे, वहाँ ठंड बहुत थी इसलिए वो मेरे लिए गर्म-गर्म कॉफी बनाकर लाई। वो सिर्फ़ एक ही कप लेकर आई थी और अब में सोफे पर बैठा था और फिर वो सीधी आई और मेरे ऊपर आकर ही बैठ गयी थी। फिर उसने और मैंने एक ही कप में कॉफ़ी पी। फिर कॉफी पीते ही उसने कप को साईड में रखा और अपना चेहरा मेरे चेहरे के साथ रगड़ने लगी। आज भी उसके बदन से वही महक आ रही थी, जो उस दिन आ रही थी, जब में उससे पहली बार मिला था। फिर ऐसे करते-करते मैंने और उसने स्मूच स्टार्ट कर दी और फिर थोड़ी देर तक स्मूच करते-करते मैंने उसका स्ट्रेप्स वाला टॉप वहीं पर ही उतार दिया।

उसकी पिस्ता कलर की ब्रा इतनी सॉफ्ट और सिल्क कपड़े की थी कि जब में स्मूच करते हुए उसके बूब्स को दबा रहा था तो पता ही नहीं चल रहा था कि उसने ब्रा पहनी भी हुई है या नहीं। फिर जब मैंने उसके बूब्स को मसला तो वो पागल सी हो रही थी और फिर ऐसा करते-करते मैंने उसकी केफ्री का भी बटन खोल दिया और उसके घुटनों के नीचे तक कर दिया। फिर उसने अपनी केफ्री भी उतार दी और उसने क्या शानदार पेंटी पहनी हुई थी? वो भी ब्रा के साथ की मैचिंग पिस्ता कलर और सेम डिज़ाइन की थी, उसका बदन इतना गोरा था कि क्या बताऊँ? पहली बार एक पंजाब की गोरी का हुस्न इस कदर देखने को मिला था। अब वो मेरे सामने इस वक़्त सिर्फ़ ब्रा और पेंटी में थी, उसकी 36 साईज की बड़ी- बड़ी, गोरी-गोरी ब्रेस्ट और ऊपर से सेक्सी ब्रा पेंटी में कातिल लग रही थी। फिर उसने मेरी टी-शर्ट और जीन्स भी उतार दी और फिर मैंने उसके बदन को खूब चाटा। फिर उसने मुझे इशारा किया कि में उसको अपनी बाहों में उठा लूँ। मैंने उसको आधी नंगी ही अपनी बाहों में उठा लिया और उसको उसके बेडरूम की तरफ ले गया। उसका बेडरूम बहुत ही आलीशान था।

फिर मैंने उसे बेड पर लेटाया और खुद भी उसके साथ लेट गया। फिर हम दोनों ने फिर से स्मूच की और फिर में उसके ऊपर लेट गया और अब हम एक दूसरे को पागलों की तरह चूम रहे थे। फिर मैंने चूमते-चूमते अपना एक हाथ उसकी बैक साईड में डालकर उसकी सॉफ्ट ब्रा के हुक खोल दिए और बहुत ही प्यार से उसकी ब्रा को उतार दिया। अब उसकी गोरी-गोरी ब्रेस्ट मेरी आँखों के सामने आ गयी थी, उसके लाईट ब्राउन कलर के निप्पल थे। फिर मैंने उसके एक निप्पल को अपने मुँह में डालकर खूब चूसा और दूसरे को अपने हाथ से बहुत मसला था। फिर ऐसा करते-करते मैंने अपना एक हाथ उसकी पेंटी के अंदर डाल दिया। अब वो नीचे से पूरी तरह से गीली हो चुकी थी। फिर मैंने उसकी चूत में थोड़ी सी फिंगरिंग की और फिर उसके बाद में सीधा लेट गया और वो मेरे ऊपर आ गयी थी।

अब उसके बड़े बड़े बूब्स मेरे मुँह के पास लटकने लगे थे। मैंने फिर से उन्हें दबाया। फिर उसने मुझे मेरे माथे से चूमना स्टार्ट किया और नीचे की तरफ चूमती चली गयी। फिर उसने मेरा अंडरवेयर भी उतार दिया और मेरे लंड को चूमना चाटना शुरू कर दिया था। फिर उसने मेरे लंड को अपने मुँह में डालकर खूब अंदर बाहर करते हुए बहुत अच्छे से चूसा। फिर उसके बाद मैंने उसको सीधा लेटा दिया और बहुत प्यार से उसकी पेंटी को उतारा और उसकी पेंटी को चूमकर साईड में रख दिया। अब उस वक़्त वो मेरे सामने पूरी तरह से नंगी थी। फिर मैंने अपना लंड उसकी चूत में अंदर करना शुरू किया तो पहले तो मैंने धीरे-धीरे धक्के मारे और फिर एकदम से ज़ोर का झटका मारकर अपना पूरा 7 इंच लंबा लंड उसकी चूत में अंदर घुसा दिया। तभी उसके मुँह से बहुत तेज आवाज निकली आअहह, ऊऊहह। तो मैंने अपने लिप्स से उसके लिप्स को भी दबा दिया।

फिर थोड़ी देर के बाद जब उसको मज़ा आना शुरू हुआ तो तब उसने कहा कि और ज़ोर-ज़ोर से करो, अयाया, खा जाओ मुझे, फाड़ दो मेरी चूत को। फिर करीब 15 मिनट के बाद में झड़ गया और मैंने अपना सारा माल उसकी चूत के अंदर ही छोड़ दिया। अब उस दौरान वो 3 बार झड़ चुकी थी। फिर हम थोड़ी देर तक नंगे ही एक दूसरे के साथ लिपटकर लेटे रहे और फिर उस दिन हमने दो बार फिर से सेक्स किया। फिर उसके बाद हम करीब 4-5 बार मिले और हम दोनों ने खूब मज़े किए। अब पिछले हफ्ते उसका अपने पति के साथ हमेशा के लिए ऑस्ट्रेलिया जाकर सेट्ल होने का प्रोग्राम बन गया था। फिर वो ऑस्ट्रेलिया चली गयी ।।

धन्यवाद …

Best Hindi sex stories © 2017

Online porn video at mobile phone