Best Hindi sex stories

Sab se achi Indian Hindi sex kahaniya!

साइबर कैफे से चैटिंग-2


Click to this video!

desi kahani अब वो पूरे जोश में आ गयी थी और झड़ने ही वाली थी और फिर 8-10 धक्कों के बाद में वो झड़ गयी। लेकिन अब मुझे कोई जल्दी नहीं थी तो मैंने अपनी पोज़िशन बदल दी और उसे डॉगी स्टाइल में कर दिया और उसके पीछे आ गया। फिर मैंने अपना लंड उसकी चूत के बीच में रखा और एक ही धक्के में अपना पूरा लंड उसकी चूत में डाल दिया। फिर मैंने अपनी एक उंगली उसकी गांड में डाल दी और बहुत ही तेज़ी के साथ उसकी चुदाई करने लगा। अब में उसको इतनी तेज-तेज चोद रहा था कि वो अपने आपको संभाल ही नहीं पा रही थी और ज़ोर-ज़ोर से चिल्ला रही थी, चोदो मेरे राजा, आज मेरी चूत की चटनी बना डालो, अपना पूरा लंड इसमें डालकर खूब ज़ोर-ज़ोर से चोदो, अपने लंड के पानी से मेरी इस प्यासी चूत को सीच दो, मुझे इस चूत ने बहुत परेशान कर रखा है, मेरा पति 2 महीने में केवल 5-6 बार ही चोद पाता है और में भूखी ही रह जाती हूँ, आज तुम मेरी चूत का घमंड एकदम चूर-चूर कर दो, तुम बहुत अच्छा चोद रहे हो, आज मुझे इस चुदाई में जो मज़ा आ रहा है उतना मुझे अपने पति से चुदवाने में कभी नहीं आया, इस चुदाई को में ज़िंदगी भर याद रखूँगी, मेरे पति ने मुझे कभी इतना मज़ा नहीं दिया, अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा है तुम अपने लंड का पानी जल्दी से मेरी चूत में निकाल दो।

अब मैंने उसे बहुत ज़्यादा जोश में देखा तो मैंने अपनी पूरी उंगली उसकी गांड में डाल दी। तो वो चिल्ला उठी क्या कर रहे हो? दर्द हो रहा है, में मर जाउंगी, मत करो ऐसा, मुझमें इतनी ताकत नहीं है कि मैं दोनों छेद में एक साथ बर्दाश्त कर पाऊँ। फिर मैंने अपने एक हाथ से उसकी चूचीयों को मसलना शुरू कर दिया तो वो शांत हो गयी। अब वो अपने चूतड़ तेज़ी से आगे पीछे करते हुए मेरा साथ देने लगी थी। अब तक मुझे उसे चोदते हुए लगभग 30 मिनट बीत चुके थे और मेरा भी पानी निकलने वाला था तो में उसे पूरी ताक़त के साथ और तेज़ी से चोदने लगा तो 2 मिनट के बाद ही मेरा पानी निकल गया और उसकी चूत भरने लगी। अब मेरा पानी निकलते ही वो एकदम शांत हो गयी थी जैसे उसकी प्यासी चूत को पानी मिल गया हो। अब इस दौरान उसकी चूत से भी 4 बार पानी निकल चुका था।

फिर मैंने अपना लंड उसकी चूत से बाहर निकाला तो मैंने देखा कि उसकी चूत एकदम सूज गयी थी, क्योंकि मेरा लंड शायद उसके पति के लंड से मोटा और लंबा था। अब उसकी चूचीयाँ मेरे मसलने से एकदम लाल-लाल हो गयी थी। फिर में उसके बगल में लेट गया और फिर हम दोनों थोड़ी देर तक वैसे ही लेटे रहे। फिर 15 मिनट के बाद ही वो फिर से चुदवाने के लिए तैयार हो गयी। अब वो अपनी चूत को साफ करने के लिए बाथरूम में जाना चाहती थी, लेकिन वो खड़ी नहीं हो पा रही थी, तो मैंने उसे सहारा देकर खड़ा किया और बाथरूम में लेकर गया। फिर बाथरूम में जाकर उसने पहले मेरा लंड साबुन लगाकर साफ किया और उसके बाद में वो अपनी चूत को धोने लगी। फिर हम दोनों बाथरूम से वापस आए, अब वो बेड के किनारे पर एक तकिया रखकर बैठ गयी थी।

फिर मैंने उसके पूरे बदन को चूमना शुरू कर दिया, अब वो भी जोश में आने लगी थी। फिर मैंने उसकी चूत को चूमना शुरू किया तो वो एकदम मस्त हो गयी। अब जोश के मारे उसकी चूत एकदम गर्म हो गयी थी। फिर मैंने अपनी जीभ उसकी चूत के अंदर डाल दी और घुमाने लगा, तो वो पागल सी होने लगी और उसने मेरे सिर को कसकर पकड़ लिया। अब वो एकदम स्वर्ग का मज़ा ले रही थी और बोली कि चाटो मेरे राज़ा, मेरे पति ने कभी मेरी चूत को नहीं चाटा, में बहुत खुश नसीब हूँ कि मुझे अपनी चूत को चटवाने का मज़ा भी मिल रहा है, मेरी चूत को चाट-चाटकर इसका पानी निकाल दो, आहहहह बहुत मजा आ एयाया रहा है और ज़ोर से, बस मेरा पानी निकलने ही वाला है, एयाया में गयी और तेज-तेज और फिर थोड़ी देर तक उसकी चूत को चाटने के बाद वो झड़ गयी और मैंने उसकी चूत से निकला हुआ सारा जूस चाट लिया।

फिर मैंने एक क्रीम लेकर उसकी गांड पर लगाई और क्रीम लगाने के बाद मैंने अपना लंड उसकी गांड के छेद पर रखा। तो वो बोली कि प्लीज में पहली बार गांड मराने जा रही हूँ, जरा धीरे-धीरे करना। तो मैंने कहा कि ठीक है और फिर मैंने अपना लंड उसकी गांड में धीरे-धीरे डालना शुरू किया, तो वो सिसकारियाँ भरने लगी। अब अभी तक केवल मेरा सुपाड़ा ही उसकी गांड में घुसा ही था कि मैंने थोड़ा ज़ोर लगाया तो मेरा लंड उसकी गांड में 2 इंच तक घुस गया। फिर वो रोने लगी, तो मैंने अपना लंड बाहर निकाल लिया, तो वो कुछ समझ नहीं पाई। फिर मैंने अपना लंड फिर से उसकी गांड के छेद पर रखा और पूरी ताक़त के साथ एक धक्का लगा दिया तो मेरा आधा लंड उसकी गांड में घुस गया। अब वो बहुत ज़ोर-ज़ोर से चिल्लाने और रोने लगी थी, लेकिन मैंने उसकी कोई परवाह नहीं की और अपनी पूरी ताकत के साथ एक ज़ोरदार धक्का और मारा तो मेरा पूरा लंड उसकी गांड में घुस गया। तो वो बहुत ज़ोर-ज़ोर से चिल्लाने लगी और अपने सिर के बाल नोचने लगी, लेकिन में नहीं रुका और फिर मैंने अपना लंड उसकी गांड में तेज़ी के साथ अंदर बाहर करना शुरू कर दिया। तो थोड़ी ही देर बाद उसका दर्द कुछ कम हो गया और उसे भी गांड मराने में मज़ा आने लगा।

अब वो तेज़ी के साथ अपने चूतड़ आगे पीछे करते हुए अपनी गांड मराने लगी थी। फिर लगभग 30 मिनट के बाद में उसकी गांड में ही झड़ गया। फिर जब मेरे लंड का पूरा पानी निकल गया तो मैंने अपना लंड उसकी गांड से बाहर निकाला। अब उसकी गांड एकदम चौड़ी हो चुकी थी। फिर उसके बाद हम दोनों लेट गये और आराम करने लगे। फिर उसने उस दिन मुझे घर नहीं जाने दिया और वो पूरी रात मुझसे चुदवाती रही। फिर मैंने उस रात उसकी 4 बार चुदाई की और 2 बार उसकी गांड भी मारी। आज तक वो अपने पति के ना रहने पर मुझसे खूब चुदवाती है और हम दोनों बहुत इन्जॉय करते है ।।

धन्यवाद …

Best Hindi sex stories © 2017

Online porn video at mobile phone